दोस्तों आज के दिन में Sim Swapping हैकर्स के लिए बहोत आसान से एक जरिया है आपके बैंक अकाउंट खली करने के लिए। तो आज हम Sim Swap क्या है  और Sim Card Swaping से कैसे बचे इसी टॉपिक पर  आपको डिटेल्स में जानकारी दूंगा।

Sim Swap kya hai


दोस्तों आज के दिन में हम लोग मोबाइल से ऐसे बहोत काम करते हे जो हमे बैंक जाके करना परता था। जैसे पैसे ट्रांसफर करना किसी से पैसा लेना या फिर नेट बैंकिंग  करना। आज कल बहोत  लोग सिम स्वैपिंग के जरिए ठगी के स्वीकार बन रहा है , उनके बैंको अकाउंट को खली कर दिया जा रहा है।

पिछले कुछ दिनों से ये Sim Swapping Fraud तेजी से बढ़ रहे है जिसका मकसद है आपके बैंक अकाउंट से पैसे का चोरी करना। ये एक Cyber crime  है , आप किसी भी सिम का इस्तेमाल करे इससे कुछ नहीं फर्क परता आपको इस फ्रॉड से बचने के लिए सतर्क रहना जरुरी है। आप किस तरह से इस फ्रॉड से बच सख्ते है में निचे इस आर्टिकल में शेयर करने बाला हु।

Sim Swap क्या है?

दोस्तों सीधे तोर पर कहा जाये तो सिम स्वैपिंग एक फ्रॉड है जो हैकर्स लोग करते है आम लोगो के बैंक अकाउंट से पैसे खली करने के लिए। इस टेक्नोलॉजी के मदद से आपको ही फ़ोन करके आपके सिम का क्लोन बना लेते है ,और आपके बैंक से आने बाला OTP हासिल करके आपके बैंक से सरे पैसा चुरा लेते है। 

दोस्तों ये कोई फिल्म की  कहानी नहीं बल्कि ये नया तरीका है। जिसके मदद से आपके मेहनत से जमा करा हुआ सरे पैसे को चुरा सख्ते है। सिम स्वैपिंग एक ऐसा तकनीक है जिसके मदद से आपके सिम कार्ड का एक डुप्लीकेट कार्ड तैयार किया जाता है। 

अब ईसि डुप्लीकेट या क्लोन किया हुआ सिम के मदद से आपके सिम को हैजर्स खुदके मोबाइल पर एक्टिव करा लेते है। जब वो खुदके नाम पर रजिस्टर कर लेते है तब आपके फ़ोन से सिम के सिग्नल गायब हो जाता है, और आपके फ़ोन बंद हो जाता है। 

जिसके मदद से हैकर्स आपके बैंक के सरे OTP को  आपने फ़ोन में रिसीव कर सख्त है। इसके बाद आपके बैंक अकाउंट के सरे पैसे को चुरा लेते है।  और आपको जानकारी भी नहीं होगा कब आपके पैसा चुरा लिया गया है , इसी लिए आपको सतर्क रहना होगा ताकि आप इस फ्रॉड में ना पड़ो। 

Sim Swap कैसे होता है :-

इसमें आपको हैकर्स फ़ोन करते है और खुदको टेलीकॉम कंपनी जैसे एयरटेल, वोडेफोने या जिओ का कर्मचारी बता ता है। जिसके बाद आपको बता ते है आपको कॉल ड्रॉपिंग प्रॉब्लम या फिर इंटरनेट स्पीड का प्रॉब्लम के बरमे हेल्प करने के लिए। इसी फ़ोन कॉल के प्रॉसेस में आपके सिम के 20 अंको बाला नम्बर ले लेते है , और आपको 1 प्रेस करने के लिए बोल दिया जाता है। 

और आप जब 1 प्रेस कर देते हो तो Sim Swapping का ऑथेंटिकेशन प्रोसेस पूरा हो जाता है। जिसके बाद आपके फोन का सिग्नल बंद हो जाता है। और दूसरे तौर पर हैकर्स के पास आपके सिम कार्ड का पूरा सिग्नल आ जाता है। 

गौर करने बाला बात ये है की ये पूरा प्रोसेस दो स्टेप में होता है , ज्यादातर केस में हैकर्स के पास आपके बैंकिंग आइडी और पासवर्ड रहता है। सिर्फ OTP  की जरुरत होता है , जब वो आपके फ़ोन पर एते ही आपके बैंको से सारा पैसा चुरा लिया जाता है। 

एक बार सफल पुर्बक ठगी करने के बाद आपके सिम को नस्ट कर दिया जाता है। ताकि किसी तरह से स्ट्रेस ना  हो पाए। आपको एक बात ख़याल रखना है ये सिम कार्ड का 20 अंक बाला नंबर सिम कार्ड की पीछे के हिस्से में लिखा हुआ रहता है। 

Sim Swap क्यों होता है :-

तो दोस्तों आपको तो पता चल गया होगा सिम कार्ड क्यों स्वैप किया जाता है। आपके सिम को क्लोनिंग करने के बाद आपके सिम कार्ड में एक्टिव सारि सर्विस जैसे बैंक अकाउंट और आधार कार्ड का गलत फ़ायदा उठा सख्त है। 

सिम स्वैप के मदद से आपके आधार कार्ड का भी गलत फ़ायदा उठा सख्त है हैकर्स। और आपके मोबाइल नंबर से लिंक हुआ बन अकाउंट का सरे पैसा चुरा सख्ते है। 

Sim Swap से कैसे बचे :-

दोस्तों अगर आपका सिम का क्लोन बन जाता है या फिर आपका सिम स्वैपिंग कर लेता है , तो आपको कुछ चीजे करना होगा ताकि फिरसे दोबारा आपके साथ फ्रॉड न हो जाये। आपको में कुछ टिप्स डुंग जो आप फॉलो करके सिम स्वैपिंग से बच सख्ते है। 
  • तो सबसे पहले अगर आपको टेलीकॉम कंपनी से कॉल अत है तो आप अपने सिम कार्ड नम्बर से जुड़ी हुई किसी भी पर्सनल इनफार्मेशन को शेयर ना  करे। और वूल कर नहीं आपके सिम कार्ड के पीछे में लिखा हुआ 20 अंको बल यूनिक नम्बर न दे। 
  • आप याद रखे अगर आप से आपके पर्सनल इनफार्मेशन या फिर OTP माँगा जाये, बेहतर होगा आप ना दे। 
  • हैकर्स इस तरह की प्रोसेस को पूरा करने के लिए 1 प्रेस करने को बोलता है। आपको ध्यान रखना है आप जब भी 1 प्रेस कर देते हो तो एथेंटिकेशन पूरा हो जाता है। तो आपको कभी भी 1 प्रेस न करे। 
  • आप अपने बैंक के साथ E Mail आईडी भी ऐड करके रखिये। ताकि जबभी हैकेर्स आपके बैंको के साथ कुछ गड़बड़ करना चाहेगी आपको इ मेल से नोटिफिकेशन मिलता रहेगा ,और आपको जानकारी भी रहेगी आपके बैंक के साथ क्या गर्बरी हो रहा है। 
  • और आप कभी भी बैंक कर्मचारी को फ़ोन पर आपसे जुड़ी जानकारिया न बताये। 

Sim Swap हो चूका है ये कैसे जाने :- 

अगर आपके साथ सिम स्वैपिंग जैसा फ्रॉड हो जाता है तो आप कैसे पता लगा सख्ते हो आपके साथ ये फ्रॉड हुआ है या नहीं। 
          
              अगर आपके फोन में कुछ घंटो से नेटवर्क नहीं है लेकिन आपके एरिया में नेटवर्क की प्रॉब्लम नहीं है। आपके फोन में SMS या फिर Call आप नहीं कर पा  रहे हो। 
अगर आपके साथ ऐसा प्रॉब्लम हो रहा है तो आपके साथ  Sim Card Swaping फ्रॉड हो चूका हे। 

Sim Swap हो जाने के बाद क्या करे :-

अगर आपके साथ Sim Swapping Fraud हो जाता है तो आपको तुरंत कुछ चीजों को करना होगा जैसे की-
  • आपके साथ सिम कार्ड स्वैपिंग फ्रॉड होते ही आप आपने बैंक को तुरंत बताये इस बारे में। 
  • आप आपने ATM कार्ड ब्लॉक कराये और आपने इंटरनेट बैंकिंग को क्लोज करे या फिर उसका पासवर्ड बदल दे। 
  • Cyber crime क्राइम सेल को तुरंत कम्प्लेन करे। 
  • आप आपने सिम कार्ड के ऑपरेटर के पास जेक सिम कार्ड को ब्लॉक कराये। 

Last Word:-

तो दोस्तों आज मैंने आपको बतया Sim Swap क्या है ? और आप कीस तरह  Sim Card Swaping से कैसे बचे। आप सभी लोग जानते ही होंगे दिन बा दिन कैसे क्राइम और फ्रॉड बड़ रहे  है। आपको हर बक्त सबधाणी से हार चीज़ करना होगा और सतर्क रहना होगा ताकि आपके साथ को फ्रॉड न हो।  दोस्तों अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आता है तो आप आपने दोस्तों और परिवार बालो के साथ जरूर शेएर करे ताकि वो भी  Sim Swapping Fraud से बच सके। 

धन्यवाद !
जय हिन्द। 

Post a Comment

Previous Post Next Post